जाम….

मत पूछो ये हाल मेरा,
है थामा ऐसा जाम मैंने,
की सच बोल गया तो,
उतर जाएँगे ये चेहरे सुनहरे,
आज चुप हूँ तो शायद देख रहे हो तुम भी,
कल जो बोल पड़ा इस मेहफ़िल में तुम्हारी,
फिर कहाँ छुपाओगे वो दाग गहरे…..

Do not ask for how I am,
My glass holds a wine dear,
This mouth if calls a name true,
Shine will shy away from faces white,
You look at me for I am mum,
My lips if will spill the secrets in your gala spectacular,
Scars will follow till the memories testify….